Ticker

6/recent/ticker-posts

mutual funds se paise kaise kamaye

Mutual Funds से पैसे कैसे कमाएं

आप क्या Mutual funds Scheme में निवेश करने के लिए सोच रहे हैं। तो फिर ऐसे में आपको निवेश करने से पहले इसे सही तरह से जानना और समझना बहुत जरूरी बन जाता है।

क्या आप भी जानना चाहते हैं Mutual Funds se Paise kaise kamaye इससे निवेश करने के Decision लेने में आपको आसानी होगी।

mutual funds se paise kaise kamaye

मैं अपने इस Article Make Money by Mutual Funds Investment in Hindi के माध्यम से इसकी पूरी जानकारी दे रहा हूँ।

मैं आपको बता देता हूँ कि Mutual fund kaise kam karta hai ये हमें कितना लाभ देते हैं। इसमें हमारा कुछ नुकसान भी हो सकता है।

आप यह भी जाने कि जैसा कि हमें आज के समय में TV and Online Platform...

जैसे कि Social media और Apps and Website में जिस तरह से Mutual fund के Advertising हम लोगों को दिखाया जाता है।

कि Mutual fund Sahi Hai क्या ये सच में सही है या सिर्फ लोगों को इसमें Interest जगाने के लिए ऐसा बताया जाता है।

उसे देखकर आप लोगों के मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि Kya Mutual funds Sahi Hai या फिर ये Risky है।

Mutual fund में निवेश की शुरूआती कीमत 500 ₹ है।

Mutual funds जो कि किसी दूसरे निवेश जैसे कि Bank FD Account and RD Account, Post office Scheme और कुछ अन्य Investment से अलग है।

Mutual fund का मुख्य काम आपके पैसों को manage करना और फिर उन पैसे को सही जगह में निवेश करना होता है।

फिर हमारे पैसे से हमे हमारे पैसों से अधिक पैसा देना, मतलब कि हमें हमारे निवेश किए हुए पैसों से अधिक पैसा Mutual funds Company देती है।

Fund का मतलब पैसा होता है वह पैसा जो कि बहुत सारे लोगों से एकत्रित कर लिए जाते हैं उसे fund कहा जाता है।

Mutual fund भी एक fund ही होता है, जिसमें बहुत सारे लोगों से पैसा एकत्रित किया जाता है, फिर उन पैसों को अलग-अलग जगहों में निवेश करने के लिए उपयोग में लाए जाते हैं।

और फिर हम आप जैसे लोग जो कि Mutual fund में निवेश किए होते हैं, तो फिर हमारे उन पैसों से AMC (Assets Management Company) को जो भी profit होता है।

तो उस Profit को उन लोगों के बीच में बांट दिया जाता है, जिन लोगों ने उसमें निवेश किए थे।

Mutual fund को manage करने का सभी काम जो कि एक Professional fund manager के द्वारा किया जाता है।

Fund manager का काम fund को manage करना और उसके पैसे को सही जगह में निवेश करके अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करना होता है।

जो Company,, mutual fund को manage करती है उसे, AMC कहते हैं।

AMC,, किसी fund को manage करने के बदले में आपसे कुछ fee's लेती है, इनमें होने वाले सभी खर्चों को Expenses ratio कहते हैं।

Expenses ratio में पता चलता है, कि किसी mutual fund में management के per unit का क्या खर्च आता है।

अलग-अलग Scheme के लिए अलग अलग fund manager होते हैं।

जो कि उस Mutual funds Scheme के goal's and objective और risk and capability के अनुसार ही fund को manage करने का काम करते हैं।

How to Invest in Mutual funds

Mutual fund की Parent company के पास जाकर निवेश करें। या फिर AMC के पास ना जाकर किसी mutual fund Agent के पास जाकर निवेश करें।

या तो किसी Financial Adviser के पास जाते है, और वह आपके लिए अलग-अलग Scheme में invest करने के लिए advice देते है।

और फिर आपके Agent और financial services company का बीच में कुछ commission होता है।

यहाँ तक कि आप अगर अपने bank के जरिए से, उनके Mutual funds Mobile app and Website से भी निवेश करते हैं तो आपका bank भी आपके लिए खुद एक Agent के रूप में कार्य करता है।

Direct mutual fund investment का सबसे बड़ा फायदा ये है,,

कि इसमें आप commission के रूप में जो पैसा आपसे Agent लेता है, उस commission को आप अपने निवेश से बचा सकते है।

आम तौर मे Direct and Regural Mutual fund की fee's में 1% से 2% तक का फर्क होता ही है।

Investment Strategies in Mutual funds

A:-LUMP-SUM Investment in Hindi

lump-sum का अर्थ एकमुश्त या एक साथ one time किया जाने वाला Mutual funds investing है। ये किसी bank में fixed deposit की तरह किया जाने वाला निवेश की तरह ही है।

lump-sum में आपका पैसा fixed deposit account की तरह निवेश किया जाता है। मतलब की पूरे पैसों को एकबार में ही निवेश कर दिया जाता है।

इसमें कम से कम 5000 रूपये तक का निवेश किया जाता है, अलग-अलग Funds की Minimum Required amounts अलग-अलग होती है।

B:- SIP Investment in Hindi

SIP में आपका पैसा हर महीने, हर तिमाही, या, हर छमाही में reoccurring deposit account की तरह निवेश किया जाता है।

SIP जो कि Recurring deposit account की तरह है, और इसमें हम हर महीने अपने saving के पैसे को Reoccurring mode में invest कर सकते है।

SIP के जरिए Rs 500 monthly निवेश कर सकते है, Sip में auto debit facility का उपयोग किया जाता है।

यानी आपकी चुनी हुई date पर आपके bank account से पैसे काटकर आपकी चुनी हुई Scheme में निवेश कर दिया जाता है।

Different Types of Mutual funds in Hindi

1. large cap equity fund

2. multi cap equity fund

3. mid cap equity fund

4. small cap equity fund

5. micro cap equity fund

Types of Mutual funds in Hindi

1:- संरचना के आधार पर

A:- open added scheme

B:- close added scheme

C:- interval scheme

2. संपत्ति वर्ग के आधार पर

A:- equity fund

B:- debt fund

C:- money market liquid fund

D:- balanced fund या Hybrid fund

E:- Growth scheme

F:- income fund

G:- liquid fund

H:- tax saving fund

I:- capital protection fund

J:- fixed maturity fund

K:- pension fund

3. विशेषता के आधार पर

A:- Sector fund

B:- Index fund

C:- Fund of fund

D:- Emerging market fund

E:- International fund

F:- Global fund

G:- Real state fund

H:- commodity foxed stock fund

I:- Market neutral fund

J:- Inversion fund

K:- Assets allocation fund

L:- Gilt fund

M:- Exchange traded fund

4. Risk के आधार पर

A:- Low risk fund

B:- Medium risk fund

C:- High risk fund

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है

Post a Comment

0 Comments