जानिए Direct Plan and Regular Plan में कौनसा बेहतर Plan होता है।

जब भी आप किसी Mutual Fund में Investment करते हैं तो वहां पर आपको Direct and Regular Scheme का Option देखने को मिलता है।

अगर आप Direct plan और इस Regular plan के बारे में नहीं जानते और नहीं समझते हैं।

तब तो फिर आपके सामने ये एक बहुत बड़ी समस्या बन जाती है कि हमें कौन से Plan में Investment करना चाहिए।

मेरे इस Article Direct Plan vs Regular Plan को पढ़ने के बाद आप ये समझ जाओगे कि आपको direct plan या regular plan किस plan के साथ Mutual funds में Investment करना चाहिए।

What is Regular Plan in Hindi

Regular Plan वे होते हैं जिसमें AMCs और Investors के बीच सीधा संबंध नहीं होता।

इसका मतलब हुआ की Regular Plan में AMC और Investors के बीच एक Mediator (मध्यस्थ) होता है।

Regular Plans में कोई भी Commission नहीं होता है।

Mediator जो की कोई एक Agent, Financial Advisor and Stock broker हो सकता है।

यह mediator जो कि Mutual fund Company के Agent के रूप में कार्य करते हैं।

मतलब यह है कि इनका कार्य AMCs के Scheme को बेचना होता है।

जैसे LIC का Agent - LIC की Insurance Policy बेचता है।

ठीक वैसे ही AMC के Agent जो कि Mutual fund Scheme को बेचने का कार्य करता है।

इन सभी कामों के बदले में Agent and Broker जो कि AMC से कुछ Percentage में कुछ Commission लेते हैं।

AMC इन Agent को Commission का भुगतान करने के लिए हम आप जैसे लोगों और Investors से अतिरिक्त expenses ratio Charge करता है।

तो आपको यहां पर समझ में आ गया होगा कि Regular Plans वह होते हैं जो Agent या Broker के जरिए से खरीदे जाते हैं।

Regular Plans किनके लिए अच्छे हैं

Regular Plan में हम लोगों को Direct Plan की तुलना में कुछ अधिक expenses ratio देना पड़ता है।

Regular Plan उन Investors के लिए अच्छा होता है जिनको किसी भी तरह से Share market and Mutual funds की कोई भी जानकारी नहीं है।

और जिनके पास अपने Portfolio को Research and Analysis करना असंभव है।

What is Direct Plan in Hindi

Direct Plan and Regular Plan में ज्यादा कुछ अंतर नहीं है। यह दोनों लगभग एक समान ही होते हैं।

जनवरी 2013 से पहले सिर्फ Regular Plan ही होते थे।

उस समय तक Direct Plan की सुविधा Mutual funds Company के द्वारा नहीं दी जाती थी।

लेकिन जनवरी 2013 से SEBI के दिशा निर्देशानुसार सभी AMCs को Regular Plan के साथ Direct Plan Lunch करने को कहा गया।

Direct Plans वह होते हैं जो सीधे Mutual fund company के द्वारा द्वारा Investors को पेश किए जाते हैं।

मतलब की यहां Investors और AMC के मध्य कोई Agent या Broker नहीं होता है।

Mutual funds Company और हम आप जैसे लोगों के बीच कोई Agent नहीं होने की वजह से Direct Plans में कोई Commission नहीं लगता है।

Mediator नहीं होने के कारण ही Direct Plans में Regular Plans की तुलना में हमे कम expenses ratio देना होता है।

लेकिन इसमें Investment से संबंधित जैसे कि Research and Analysis के सभी कार्य हम लोगों को स्वयं ही करना होता है।

Direct Plans किनके लिए अच्छे हैं

Direct plans उन लोगों के लिए सही है जो Stock market and Mutual funds की कुछ जानकारी रखते हैं।

और अपने Portfolio के निर्माण के लिए थोड़ा समय निकाल पाते हैं।

Direct Plan investment करने वाले investors को AMCs, Expenses Ratio, Risk and Returns आदि की थोड़ी-बहुत जानकारी होना आवश्यक है।

Direct Plan में कम expenses ratio के कारण उन्हें Regular Plan की अपेक्षा में ज्यादा Profit and Returns मिलता है।

कैसे पहचाने Direct Plan और Regular Plan को

किसी Mutual fund Scheme में Direct Plan और Regular Plan को पहचाना बहुत ही आसान काम है।

जब भी आप किसी mutual fund scheme को खरीदते हो तो उस समय scheme के आगे लिखा होता है कि वह Direct Plan है या फिर Regular Plan है।

SBI Bluechip Fund- Regular Plan

SBI Bluechip Fund- Direct Plan

Note आप Direct plan vs Regular plan इन दोनों में Online and Offline दोनों तरीके से Investment कर सकते हैं।

Direct Plan Vs Regular plan in Hindi

वर्तमान में प्रत्येक Mutual funds Company एक ही Scheme में दोनों Plan को लोगों के लिए Offer करते हैं।

Direct Plan और Regular Plan इन दोनों के Fund Manager एक ही व्यक्ति होता है।

इन दोनों plans में  Fund Manager के द्वारा एक ही Securities, Share, Bonds and Debenture में Investment किया जाता हैं।

अगर आप mutual fund में invest कर रहे हैं और आपने लंबे समय के लिए investment किया है तो आपके Returns दोनों Plans में अलग-अलग होगा।

लेकिन दोनों के एक समान होने के बावजूद भी इनमें कुछ अंतर है।

Regular Plan के फायदे

Advisor की सुविधा उपलब्ध होने की वजह से Investors को स्वयं कोई Research and Analysis नहीं करनी होती है एवं समय देने की आवश्यकता भी नहीं पड़ती है।

Regular Plan में बहुत कुछ सेवाएं प्राप्त होती है जैसे कि investors के  Record रखना, redemption में सहायता आदि।

Regular Plan के नुकसान

Mediator होने की वजह से आपकों अधिक Expenses ratio का भुगतान करना होता है जिससे कि आपको Direct Plan की तुलना में कम लाभ मिलता है।

रेगुलर प्लान की NAV कम होती है जिससे आपके Portfolio का Valuation कम रहता है।

यह शुरुआत में कम लगता है परंतु जब आप ज्यादा लंबे समय के लिए Investment करते है तो यह अंतर बहुत ज्यादा हो जाता है।

Direct Plan के फायदे

Direct Plan में आपको बहुत ही कम या फिर नाम मात्र का Expenses ratio भुगतान करना होता है जिसके कारण आपको अधिक NAV मिलती हैं।

इससे आपके Portfolio का Valuation जो कि Regular plan की तुलना में बहुत ज्यादा रहता है।

इसके अतिरिक्त लंबे समय में Direct Plan और Regular Plan के लाभ में ज्यादा अंतर होता है।

Direct Plan के नुकसान

Direct Plan में कोई Advisor नहीं होने की वजह से कोई सही Investment सलाह नहीं मिलती है। आपको स्वयं अपनी Research and Analysis करना होता है।

इसके लिए आपको अपना समय निकालकर Mutual funds का चुनाव करना पड़ता है, खुद ही अपना Portfolio का निर्माण करना होता है।

और साथ ही अपने Portfolio को समय-समय पर खुद को ही Review करना होता हैं।

आपको कौन सा Plan लेना चाहिए

Direct Plan या Regular Plan इसका जवाब बहुत ही आसान हैं। अगर आपको Share market and Mutual funds के बारे में जानकारी रखते हैं।

और आप कुछ Research and Analysis कर सकते है तो आपको Direct Plan के माध्यम से Investment करना चाहिए।

इससे आपको Profit ज्यादा मिलेगे और आप अपनी पसंद के Mutual Fund से अपने Portfolio का निर्माण करेगे।

आपको अगर Mutual fund and Share market की कोई भी जानकारी नहीं है और आप थोड़ा बहुत लाभ के साथ संतोष कर सकते हैं तो आप Regular plan मे Investment कर सकते हैं।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है