Ticker

6/recent/ticker-posts

financial intermediaries kya hai aur kaise kaam karta hai

What is Financial intermediaries in Stock market

Stock Market में Financial Intermediaries क्या है कैस काम करते हैं

Financial intermediaries
ये संस्थाए जो Stock market को बेहतर ढंग से चलाने में help करते है।

Investors को Shares खरीदने और बेचने के साथ, Shares की Delivery, और पैसे के लेंन-देने के मुश्किल काम को भी बहुत आसन बना देते है।

For example Bank, Stock broker, और अन्य.अगर दुसरे शब्दों में कहे तो,
financial intermediaries Stock market के Behind the picture काम करने वाली महत्वपूर्ण संस्थाए है।

जिनकी Help से Stock market में Shares खरीदना और बेचना बहुत ही आसान हो जाता है।

BANK FINANCIAL INTERMEDIARIES Stock market में Bank का बहुत महत्वपूर्ण रोल है।

bank की help से ही हमारा Stock market में पैसो का व्यव्हार बिलकुल आसान और सुरक्षित हो जाता है।

BANKING SERVICE

For example Internet banking, Neft, Rtgs, Imps की help से हम अपने Trading accoun में fund transfer कर पाते है, और shares खरीद पाते है।

और जब हम shares बेचते है, तो बेचे गए shares का पैसा हमारे Trading account में जमा हो जाता है।
जिसे हम बाद में अपनी सुविधानुसार अपने bank में transfer कर सकते है।

ध्यान दे आप Trading account में, account खोलते समय बताये गए bank,

यानि linked bank से ही व्यव्हार कर सकते है, Trading account को एक समय पर सिर्फ एक bank account से link किया जा सकता है।

अगर आप अपने Trading account में पहले से link bank की बजाय अपने किसी दुसरे account से fund transfer लेना या देना चाहते है।

तो आपको अपने Stock broker के पास, Trading account में link bank change करने इसकी लिखित request देनी होगी।

Stock broker  FINANCIAL INTERMEDIARIES Stock market में Stock broker की माध्यम से ही हम कोई भी Transaction कर सकते है।

कोई भी share खरीदने और बेचने के लिहाज से Stock broker का Role बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है।

DEPOSITORY PARTICIPANT (DP) वे संस्थाए है,
जो ख़रीदे गए Shares को खरीदने वाले के नाम से उसके खाते में Digital form में shares को अपने पास जमा रखती है, और जब खरीदने वाला , उन shares को बेचता है।

तो वे shares खरीदने वाले के account से बेचने वाले के खाते में जमा कर दिया जाता है, ये चीज़े हमें देखने को नहीं मिलती है, ये BEHIND THE SCENE वाले काम है।
जिसकी help से हम आसानी से अपना share खरीद और बेच सकते है।

1996 के बाद India में Shares को DIGITAL FORM यानि Demat account में ही रखा जा सकता है।

और इस तरह की Demat account की Service and facility देने वाली दो Company है,
जिन्हें Depositeries कहते है ।

NSDL National Securities Depository Limited

CDSL Central Depository Services Limited

जिस तरह हम Direct Stock market से Shares नहीं खरीदते,
हमें Stock market से Shares खरीदने के लिए Stock broker के पास Trading account खोलना होता है।

वैसे ही Direct DEPOSITERIES के पास Account खोल नहीं सकते,

हमें  Demat account खोलने के लिए (DP) के पास अपना demat account खोलना होता है।

जो हम किसी भी Stock broker के पास Trading account खोलते समय Demat account खोल दिया जाता है।

NSCCL {National Security Clearing Corporation Ltd}

ICCL {Indian Clearing Corporation are wholly}

 ये संस्थाए Stock market  में,
National Stock Exchange और Bombay Stock Exchange की subsidiaries है,
ये BEHIND THE SCENE वाले काम है।

 ये संस्थाए BUYERS और SELLERS के ORDER को MATCHE करती है
.
ये संस्थाए इस बात को सुनिश्चित करती है, कि Shares,, को  Buyers and Sellers,,
Shares,, buy and sell  बाद में मुकर न जाये,
ये किसी तरह के DEFAULT नहीं होने को सुनिश्चित करती है।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है

Post a Comment

0 Comments