What is Portfolio in Hindi

Investing के सम्बन्ध में portfolio का अर्थ,
Investment की विविधता (Different types of investment) और investing का कुल योग (Total investment) होता है।

अलग अलग financial asset class में invest के कुल योग को मिलाकर एक portfolio बन जाता है।

For example  किशोर अपने investing को अलग अलग Asset class , जहा fixed deposit में 30 %, Mutual fund में 30 % और stock market में 40 % Investment करता है।

ये भी कहा जा सकता है कि,,
Investment portfolio का अर्थ, एक Planned technique है।

जिसका इस्तेमाल करके Investors अपने Investment को अलग अलग Asset class में Invest करता है।

और अपने Investment में होने वाले Risk को control करके investing से High Returns चाहता है।

Mutual fund Portfolio in Hindi

Mutual fund portfolio में अलग-अलग Types के Mutual fund scheme को शामिल किया जाता है।

Mutual fund Agent द्वारा mutual fund के अलग अलग option,
Risk को कम करके, Investment करने की सलाह दी जाती है।

हर आदमी यही चाहता है कि,, वह कम से कम Risk पर अधिक से अधिक Profit ले, और बहुत कम Investment है, जहा low risk पर high return मिलते है।

जो भी Investing है, उनमे से ज्यादातर जहा high return की संभवना होती है, वहा Risk भी high होता है।

कोई भी व्यकित mutual fund investing start करता है,
तो उसे, एक balanced portfolio बनाने की advice दी जाती है।

जिसमे कुछ high risk वाले mutual fund के साथ-साथ investment की रकम की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कम profit के investment भी किये जाते है।

ताकि एक balanced portfolio  मिल सके, और उसे low risk में high profit हो सके।

हर mutual fund company के पास कई अलग-अलग mutual fund उपलब्ध है।

For example,,

Equity fund Debt fund,, Balanced or hybrid fund,, Sector fund Industries fund,, Index fund,,
Small cap fund,, Large cap fund,, Mid cap fund etc.

हर आदमी का अपना-अपना एक अलग investing target होता है, investment कर के हर आदमी को profit कमाना जरुर चाहता है।

but हर आदमी की investment में Risk उठाने की capacity अलग-अलग होती है।

और भी बहुत सारे अलग अलग mutual fund scheme,,
हर mutual fund company के पास ऐसी scheme उपलब्ध है।

हर mutual fund scheme का अपना एक Objective यानि उद्देश्य होता है।
तो जब भी आप किसी mutual fund में invest करते है।

तो आपको ध्यान में रखनी चाहिए कि,,
क्या आपके investment के उद्देश्य,
उस mutual fund के objective से मिलते जुलते है या नहीं ?

Risk के आधार पर mutual fund में 3 types के होते है:-

A:- Low Risk Mutual Funds in Hindi

B:- Moderate Risk Mutual Funds in Hindi

C:- High Risk Mutual Funds in Hindi


अब ऐसे में आप अपने mutual fund investing पर कम से कम Risk चाहते है भले ही profit कम होती है।

तो आपको low risk mutual fund में investment करना होगा।

और अगर आप ज्यादा Risk उठाते हुए ज्यादा profit के लिए investing करना चाहते है।

तो आपको high risk mutual fund में investing कर सकते है।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है