Ticker

6/recent/ticker-posts

paise bachane ke 50 tarike

पैसे बचाकर करोड़पति बनने के 35 तरीके हैं

अगर आप अपना पैसा investment करना चाहते हैं, तो पहले investing करने की लिए पैसा बचना जरूरी होता है।

हम में से बहुत से लोग investment इसलिए नहीं कर पाते क्योंकि वह लोग पैसे ही नहीं बचा पाते हैं, बिना पैसे का तो investment नहीं कर सकते हैं।

पैसे बचाने के लिए आप अपनी Income बढ़ा सकते हैं या Expenses को कम कर सकते हैं।

Income Source शायाद आपके हाथ में न हो, पर आप अपने खर्चे को तो कम कर ही सकते हैं।

अगर आप महीने के Rs 1,000 भी बचा लेते हैं, तो साल के Rs 12,000  बचा सकते हैं।

1: Loan के पैसों से खरीदारी नहीं करे

कई बार हम किसी सम्पति को लेने के लिए कम पैसे होने पर किसी Bank and Financial institutional से Loan लेते है और फिर उस सम्पति को खरीदते है।

ऐसा करने पर हमे Loan के EMI Payment अधिक चुकाने पड़ते है, और Loan के Time Period के दौरान हम किसी भी तरह का Saving नहीं कर पाते।

इसलिए सम्पति को खरीदने के लिए या किसी अन्य कार्य के लिए Loan पर पैसे ना ले।

2: अपने Income से Investment करें 

अगर आप किसी Government and Private Institutional में कार्यरत है और आप अधिक Saving करना चाहते है तो आप कम समय या कम उम्र में ही Systematic Investment Plan ले सकते है।

इस Plan के तहत अपनी Income का कम से कम 15 से 25% Amount का Mutual fund investment कर सकते है जो आपको आपके भविष्य में सहायता प्रदान करेगी।

3: अधिक Shopping नहीं करे

अगर आप अनावश्यक products की Shopping कर लेते है तो इससे आप Saving and Investment नहीं कर पाएँगे।

4: कुछ पैसे Cash में बचा के रखे

आप अपने Income का कम से कम 10% Amount अपने पास Cash के रूप में रखे।

यह Amount अनावश्यक समस्याओ का समाधान में आपका मदद करेगा।

5: Mutual Fund में Investment करे

Mutual Fund Investment सबसे best option है,

Investment से पहले आप Company के सभी Profit and loss को अच्छे से जान ले और फिर investing करे।

6: साधारण वैवाहिक कार्यक्रम करें

पैसे अधिक खर्च शादी-विवाह में होता है।

कई लोग मनचाहे पैसे खर्च करते है जिससे उनका Saving भी ख़त्म हो जाता है।

अगर इनमें जरुरत के हिसाब पैसे लगाए या विवाह उत्सव साधारण किया जाए तो पैसे के अधिक खर्च को कम किया जा सकता है।

7: मुद्रास्फीति को ध्यान में रखे

क्या आप अपने समस्त धन राशि Saving account में रख रहे है, तो आपकी यह एक बहुत बड़ी भूल है।

अधिक राशि अपने account में नहीं रखे, इससे आपके Amount पर अधिक Interest नहीं मिल पाएगा।

अपने Amount को किसी Mutual fund Scheme या Share market में investment करे।

8: Investment किए पैसे पर ध्यान रखना

अगर आप अपने Amount को Stock में investment कर रहे है तो अपने investment पर ध्यान दे।

Stock में पैसे का Delivery एवं Intraday के लिए एक अलग Demat account खुलाना पड़ता है जिससे आप आसानी पूर्वक अपने lnvesting and Tax पर निगरानी कर सकते है।

9: Insurance schemes खरीदे

अच्छे Return के लिए insurance में investment न करें।

किसी भी प्रकार का insurance के investment का best option नहीं है।

Insurance एक जो Risk Management System है जहाँ किसी भी प्रकार का Profit and Return नहीं मिलता।

हाँ कुछ insurance होती है, जिसमे हमको Risk Cover मिलता है और साथ ही साथ Return भी मिलता है।

पर Average Return 4 से 5 % का होता है, जो की एक best profit नहीं है।

10: Credit card का अधिक Use नहीं करे

किसी भी प्रकार के भव्य खर्च के लिए Credit card का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

अगर आप Shopping के लिए इस्तेमाल करते है तो वस्तु मूल्य के साथ साथ अतिरिक्त सेवा कर भी हमे ही चुकाना पड़ता है।

इसलिए अगर आपके पास Credit card है तो इसका इस्तेमाल बुद्धिमानी से करे।

11: Investment की जानकारी Share करे

आप अगर कभी भी किसी प्रकार का investment कर रहे है या फिर किसी प्रकार का Lone लिए है तो इन सभी बातो की जानकारी अपने परिवार के सदस्य को अवश्य दे।

ताकि यदि आपको कुछ हुआ तो आपके बाद आपके परिवार वाले उस investment का लाभ या investment को समाप्त कर लाभ उठा पाए।

12: आय को संतुलित बनाए रखे

हमेशा अपने आय को संतुलित बनाए रखे, आय संतुलन के बात आप अपने खर्च एवं ऋण को भी संतुलित करे।

किसी प्रकार का अवांछित Loan ना ले और जरुरत के अनुसार अपने Saving Amount का इस्तेमाल करे।

13: Investment से पहले योजना का निर्माण करे 

आप सभी लोग अपने Career, Life, और Expenses and Finance के लिए एक योजना का निर्माण कर योजनायुक्त कार्य करे।

14: स्वयं को स्वस्थ बनाए रखे

मनुष्य के लिए सबसे महवपूर्ण बात यह है की,

मनुष्य अपने स्वास्थ्य को स्वस्थ रखे, इससे आपके कार्य में किसी प्रकार की शारीरिक बाधा उत्पन्न नहीं होगी और आपकी हमेशा आय संतुलित बनी रहेगी।

15: अपने भविष्य के लिए इच्छापत्र निर्माण करे

आप अपने इस आधुनिक व्यस्त जीवन शैली से थोडा सा समय निकालकर अपने समस्त सम्पति के लिए एक इच्छापत्र का निर्माण करे।

यह आपके परिवार को आपके अनुपस्थिति में अनावश्यक समस्याओ से सुरक्षित रखेगा।

16. पहले Investment करें फिर खर्चा करें

हम लोग हमेशा ही उल्टा करते हैं, सभी खर्चों के बाद जो पैसा बचता है, वह पैसा investment करते हैं.

अगर आप पैसा बचाने में परशानी हो रही है, तो आप Sallery आते ही पैसा investment कर दिए।

जो बचेगा उसे आप खर्च करिए, कई बार जब Bank में पैसे कम होने लगते हैं, तो फिर हमारे खर्चे अपने आप ही कम हो जाते हैं।

17. अपने investment को स्वचालित कर दिए

महिने की शुरुआत में ही आप Recurring deposit and Mutual funds SIP के माध्यम से पैसा investment कर दे,

आपको सोचने का मौका ही नहीं मिलेगा, पैसा अपने आप invest हो जाएगा, बचे हुए पैसे को आराम से invest कर खर्च कर सकते हैं।

18. Investment और खर्च के लिए अलग अलग Bank account रखें

जैसे ही आपकी Salary आये, उस में से कुछ पैसे आप एक दूसरे Bank account में Transfer कर दिए।

जो की आप केवल investment के लिए ही इस्तेमाल करते हैं, खर्चे केवल अपने आम खर्चे वाले Bank account से करिए।

19. अपने Investment प्रत्यक्ष लक्ष्यों से जोडें

अगर कोई investment आप अपने बच्चो की Education की लिए करते हैं।

तो आप उसे रोकने की या बेचने की सोचने से पहले कई बार सोचेंगे, इसीलिए अपने हर investment को किसी लक्ष्य के साथ जोडें।

20. Credit card and loan लेने से बचें

वैसे से credit card का उपयोग करने के कुछ फायदे भी हैं, परन्तु अगर आप अपने खर्चों को नियंत्रण नहीं कर पाते, तो बेहतर होगा की आप Credit card का इस्तेमाल न करें।

अगर आप Use करते हैं, तो काफी संयम होना चाहिए, अन्यथा आप काफी ज्यादा खर्चा कर सकते हैं।

21. एक Budget बना कर चलें

हर महीने अपना Budget बनाते रहना चाहिए, और फिर उस पर अमल करें.

अपने खर्चों को Copy मे Note भी करें और बाद में उनकी तुलना अपने Budget से करें।

Budget से आपको यह भी पता चलेगा की किन खर्चों को कम किया जा सकता है और किन को नहीं।

आपको एक तरह से ये अंदाजा लग जाएगा की कहाँ ज्यादा खर्चा हो रहा हैं, धीरे-धीरे आप उन अतिरिक्त खर्चो को कम कर सकते हैं।

22. जिन Products and Services का Use न हो, उन पर पैसे खर्च न करें

Gym की Membership ले रखी है, पर जाते नहीं है, या तो gym जाना शुरू करें या फिर कर दें।

अगर किसी Magazine and Paid Service को Subscribe कर रखे है पर पड़ते नहीं है, तो ऐसे Subscription को बंद करें।

 23. याद रखें कि बूँद-बूँद सागर बनता है

कई बार हम लोग कुछ कदम इसलिए नहीं उठाते क्योंकि हमको लगता है की इससे क्या फर्क पड़ेगा।

जैसे की अगर समझदारी से इस्तेमाल करें तो Electricity Bill भी कम हो सकता है।

अगर आपके पास Mobile का Post-paid Connection है और आपका Bill काफी ज्यादा आता है, तो आप Pre-paid Connection पर Shift कर सकते हैं।

24. कभी भी दिखावा नही करना है

उतना ही खर्चा करें, जितना आप में सामर्थ्य हो, Credit card and Personal loans लेकर केवल दिखावे के लिए खर्चा करना बेवकूफी है।

25. Emergency के लिए Saving करें

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके पास खुद के लिए और अपने परिवार के लिए पर्याप्त Saving है.

अपने महिने के खर्च को छह से नौ महीने तक अलग रखें. Emergency में यह जमा राशि आपके काम आएगी.

26. आप अपने सभी खर्च को कम करें

अपने सभी खर्चों के लिए Monthly भुगतान की Calculation करें और यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप अधिक खर्च तो नहीं कर रहे हैं।

ध्यान दें

EMIs and Banking Penalty से बचें, यह सुनिश्चित करने के लिए हर महीने इसके लिए पैसे को अलग करें.

27. अपने Insurance जरुरत को समझें

सही Insurance आपके सफल वित्तीय नियोजन के सबसे महत्वपूर्ण घटकों में से एक है.

जैसे ही आप Salary प्राप्त करना शुरू करते हैं, आपको अपनी Insurance जरूरतों के बारे में ध्यान देना शुरू कर देना चाहिए.

28. Investment करना शुरू करें

जितनी जल्दी हो सके Investment करना शुरू करें।

यही इसकी कुंजी है जहां आप शुरुआत में लाभ उठा सकते हैं।

एक Investment Plan जिसमें आपको low risk हो, इसके लिए कई Mutual Funds के Option शामिल हैं जहां आप Investing कर सकते हैं।

29. Long term के लिए योजना बचाएं

आप अपने कई लक्ष्यों को पा सकते हैं, इसके लिए आपको हर महीने Saving करने की आवश्यकता है।

लेकिन हर महीने का बचत अपर्याप्त है।

आप अपनी जरूरतों को कम करें और अपने लिए और जरुरी चीजों पर ध्यान देना शुरू करें।

30. Investment पर पुनर्विचार करें

अपनी Assets and Libility का लेखा-जोखा करें. आर्थिक मामलों की समीक्षा करें।

For example यदि आप Credit card का खर्च कम कर देते हैं तो आपकी देनदारी कम हो जाएगी।

इसलिए कि कई लोग Credit card से अनावश्यक खरीदारी कर लेते हैं।

ऐसी खरीदारी नहीं करने का अर्थ ज्यादा Saving का होना है।

यह सोचना जरूरी है कि आप किन उद्देश्यों से Saving करना चाहेंगे (बच्चों की Education, नया घर, Car, आदि) और यह भी विचार करें कि कितने समय तक Saving करने से आपके ऐसे लक्ष्य पूरे हो जाएंगे।

31. बजट बनाने की आदत डालें

अगले साल के लिए Budget बनाने का इससे बेहतर समय नहीं मिलेगा. पर आम तौर पर होता यह है कि आपका Budget तो बिल्कुल तैयार होता है।

पर आप इसके हिसाब से चलने में चूक कर देते हैं।

आप अपने Budget के हिसाब से चलेंगे तो न केवल आपके सभी खर्च को पूरा करने का भरोसा रहेगा, बल्कि आपके आर्थिक लक्ष्य भी पूरे हो जाएंगे।

ध्यान रखें, यदि किसी चीज की इच्छा से आपका मन मे आ जाता है तो आप कर्ज में पड़ सकते हैं और Income and Saving में भी Problem आ सकती है।

परिवार से सलाह लेने के बाद ही Investment and Saving मामलों में कोई निर्णय लें।

बच्चों को भी Saving के लाभ बताएं और फिजूलखर्ची से बचने की सलाह दें।

उन्हें आर्थिक मामलों की बुनियादी बातें बता कर आप परिवार के आर्थिक लक्ष्यों को आसानी से पूरा कर पाएंगे।

सेहत के नाम पर Saving and investing की शुरुआत करें

32. अपने लिए स्वास्थ्य योजना बनाए

Health insurance में निवेश इसका अच्छा उदाहरण है।

क्योंकि आप जानते हैं कि इलाज कितना महंगा हो रहा है और कैसे health insurance, खास कर Medical Emergency में आपकी मदद करता है।

इलाज के भारी खर्च से परिवार को आर्थिक संकट में जाने से बचाने के लिए Health insurance Investment एक शानदार Saving है।

33. अपने बच्चों के भविष्य की योजना बनाएं

ज्यादातर लोग अपने बच्चों की Higher Education पर खर्च करते हुए वे बहुत कर्ज में डूब जाते हैं।

हालांकि आज अवीवा Kid-O-Scope जैसी विशेष Service का लाभ लेकर वे न केवल अपने बच्चे के अंदर छिपी Skills समझ जाएंगे।

बल्कि शिक्षा के Cost Calculator की मदद से यह जान पाएंगे कि बच्चों के Higher Education को पूरे करने में आपका कितना खर्च होने वाला है।

इसके बाद उन्हें Investment and Saving के सही रास्ते बताए जाएंगे ताकि जरूरत आने पर Fund तैयार रहे।

34. आप अपनों का भविष्य सुरक्षित कर दें

Life Insurance का आपके आर्थिक नियोजन में बुनियादी महत्व है।

इसलिए यह ध्यान रखना होगा कि आपके पास पर्याप्त Insurance हो और आपके परिवार का आर्थिक भविष्य सुरक्षित हो।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है

Post a Comment

0 Comments