Mutual Funds Investment कैसे करें इनके लाभ क्या है

क्या आप भी Mutual funds Scheme में Sip Vs lump-sum investment करना चाहते हैं।

कोई भी Investment करने से पहले आपको उसकी पूरी knowledge होना बहुत जरूरी है। इससे आपको Investment करने में help मिलती है।

Mutual Fund एक ऐसा Fund होता है जिसमें हम आप जैसे बहुत सारे लोग RD Account की तरह पैसा Investment करते हैं।

और इसमें एक Expert Mutual Fund Manager होता है।

जो कि हमारे पैसों को अपनी समझ से अलग-अलग प्रकार के Investment Plans में Invest करता है।

और फिर हमारे पैसों से जो भी लाभ होता है वो Profit हम आप ने जो पैसा Mutual funds में लगाया था वो पैसा हमें मिलता है।

Mutual funds Manager यह काम Free में नहीं करता है, इसके बदले में वह कुछ Fees लेता है जिसे Expense Ratio कहते है। 

Note Mutual Fund में Rs 500 monthly भी Investment शुरू किया जा सकता है।

खुद ही इसमें Invest करने के लिए सबसे पहले आपको Groww, Paytm Money या Zerodha Coin इन जैसी और भी Apps and Website है।

जिनके जरिए आप Account खोल कर अपनी E-kyc करवाकर Account Open करवा सकते हैं।

और फिर अपने आप अपने किसी भी Bank Account को link करके इसमें SIP and Lump-sum के जरिए Investment कर सकते हैं।

Sip and Lump-sum in Hindi

Mutual Fund Sip Investment in Hindi

SIP का मतलब Systematic Investment Plan होता है।

जब हर महीना, हर तिमाही, हर छमाही एक निश्चित राशि को Mutual Fund में Regular Invest किया जाता है तो उसे SIP करना कहते है।

For Example आप महीने का 30 हज़ार रुपये कमाते है और उसमें से 3000 रुपये हर महीना, तिमाही या फिर छमाही में Mutual Fund में Invest करते हैं तो इसे SIP कहेंगे।

Mutual Fund Lump-sum Investment in Hindi

आपके द्वारा जब एक बार में पूरा पैसा किसी Mutual Fund में Invest कर दिया जाता है तो उसे Lump Sump करना कहते है।

For Example आप Mutual Fund में 6 लाख रुपये Invest करना चाहते है और आपने 2 अलग अलग Fund में 3 - 3 लाख रुपये Invest करते हैं।

इस तरह से Invest करने का तरीका Lump Sump Investment कहलायेगा।

Sip में हर महीने, हर तिमाही, हर छमाही Regular invest किया जाता है और Lump Sump में एक बार में ही Invest कर दिया जाता है।

Market में बहुत से अलग अलग तरह के Mutual Fund होते है, बिना सोचे समझे किसी भी Scheme में invest नहीं करना चाहिये।

Mutual funds को अपनी Risk and Capability के अनुसार इसे Research and Analysis करने के बाद ही किसी Scheme का Selection करना चाहिये और फिर इनमें निवेश करें।

Mutual Fund जो कि Banks के Saving account, Fixed Deposit account और Reccuring Deposit account and Insurance etc.

जैसे Investment तुलना में ज्यादा अच्छे Return and Profit दे देता है।

मेरे हिसाब से सभी लोगों को हर महीने, हर तिमाही या फिर हर छमाही अपने कमाई का एक हिस्सा Mutual funds में निवेश जरूर करना चाहिये।

जितने Mutual funds लेने की इच्छा हो आपकी आप उतने लें सकते है मेरे हिसाब से 3 से 4 Funds लेना सही होता है।

Mutual  fund में 2 तरह से Investment किए जाते है Direct Vs Regular Plan in Hindi

Mutual fund एक investment की scheme होती है जिसमे अलग-अलग लोग investing करते है।

और इस  में जमा सभी राशी को उस scheme के पहले से तय objective के अनुसार उस scheme का fund manager,,

Stock market,, Government scheme, Bond's and debenture etc. में investment करता है।

तो अब जब अलग-अलग लोग किसी mutual fund में invest करना चाहते है।

तो उनके पास 2 तरीके होते हैं।

1. Regular Mutual Fund Investment in Hindi

2. Direct Mutual Fund Investment in Hindi

या तो वे mutual fund की parent company के पास directly जाये, और वहा जाकर वो direct mutual fund में invest कर दें।

और दूसरा तरीका ये है कि, आप सीधे mutual fund company के पास ना जाकर किसी mutual fund broker and Agent के पास जाते है।

या फिर किसी financial adviser company के पास जाते है, और वह आपके लिए अलग-अलग प्रकार के Scheme में invest करने के लिए advice देते है।

ऐसे Case में आपका Regular investment किया जाता है।

और आपके mutual fund Agent या फिर financial services company का बीच में एक commission होता है।

आप bank के माध्यम से mutual fund में investing करते है, तो bank खुद आपके लिए एक Agent and Broker के रूप में कार्य करता है।

इसमें invest करने का ये मतलब है की किसी Broker and Financial Advisor की सहायता से Mutual Fund Purchase करना।

आपसे इस काम के लिये Broker कुछ Commission लेता है।

Direct Mutual Fund investment करने का ये मतलब है की बिना किसी Financial adviser and Broker की सहायता के खुद ही Mutual funds में invest करना।

इसका का सबसे बड़ा फायदा ये है, कि, आप इसमें commission के रूप में जो पैसा आपके investment से Agent को मिलेगा है। उसका सीधा लाभ आप बचा सकते है।

Note आम तौर पर Fees में 1% से 2% तक फर्क पड़ता है।

इस तरह से निवेश करना तभी सही है जब आपको mutual fund की पूरी जानकारी हो कि आपको कौन सा Scheme में invest करना है।

Invest in Mutual funds in 2 Ways

1:- online (mobile app and website)

2:- offline (mutual fund Agent के द्वारा)

A:- Online Invest in Mutual fund

Online तरीके से invest करने के लिए आपको किसी भी mutual fund की,, mobile app and website से directly,, invest कर सकते हैं।

आज के दौर में हर किसी के पास smartphone,, laptop,, desktop,, and Internet की service होती है। तो आप online भी investment कर सकते हैं।

आज के modern world में बहुत सारे mutual fund,, buy and sell,, करने वाले mobile apps and website मिल जायेंगें।

जिनमें से आप घर बैठे असानी से कहीं भी कभी भी इसमें investment कर सकते हैं।

अगर आप इस तरीके से invest करेगें तो उसके लिए AMCs की mobile app and website पर जाना होता है।

online तरीके से invest करने से बहुत कम paperwork लगते हैं। और अपने मनपसंद scheme में invest कर सकते हैं।

Mutual fund के किसी direct plan में invest करने का एक ये फायदा होता है, कि आपको commission नहीं देना पड़ता है।

इसलिए long term के invest में आपको  बहुत ही अच्छा-खाशा return मिल जाता है।

इस तरह से invest करने से एक problem ये होता है, कि आपको खुद ही research and analysis करना पड़ता है।

तो mutual fund की knowledge होना बहुत जरूरी है। बिना knowledge के invest करना आपके लिए Risky हो सकता है।

B:- Offline Invest in Mutual funds

Offline तरीके से invest करने के लिए आपको किसी mutual fund Agent के पास जाना होता है।

या फिर fund house यानी की AMC (assets management company) में जाना होता है।

Offline तरीके में बहुत ज्यादा paperwork लगता है।

इसमें आपको Agent या फिर fund house आपसे कुछ commission charge करते हैं। इसमें आपको सही सलाह मिल जायेगा।

There are 2 Ways of Mutual funds Investments

A:-Lump-sum Investment in Hindi

Iump-sump का अर्थ है,,

एकमुश्त और इस तरह Mutual fund में lump-sum investment का अर्थ एकमुश्त या एक साथ one time किया जाने वाला investing है।

lump sum किसी bank में FD account की तरह किया जाने वाला investing है।

इसमें आपका पैसा को एक साथ fixed deposit account की तरह invest किए जाते हैं।

यानी की पूरे पैसों को एकबार में ही Scheme में निवेश कर दिया जाता है।

Mutual fund और fixed deposit दोनों अलग अलग होते हैं।

lump sum में कम से कम 5000 रूपये तक का invest किया जा सकता है।

B:- SIP Investment in Hindi

SIP में आपका पैसा हर महीने, हर तिमाही, या, हर छमाही में reoccurring deposit account की तरह invest किए जाते हैं।

Mutual fund में SIP investment किसी bank की Reccuring deposit की तरह होता है,

और इसमें हम हर महीने अपने saving के पैसे को Reoccurring mode में investment कर सकते है,

जब हमारे पास investing करने के लिए कोई बहुत बड़ी रकम नहीं होती है।

तब हम bank के RD account की तरह ही अगर इसमें invest करना चाहते हैं।

तो SIP के माध्यम से 500 रूपये monthly भी investing start कर सकते है।

Sip में आप थोड़ा-थोड़ा करके पैसे को invest कर सकते है।

यानी की आप mutual fund scheme के investment को EMIs में payment कर सकते हैं।

Note Sip में auto debit facility का उपयोग किया जाता है।

यानी आपके द्वारा चुनी गई date पर आपके bank account से पैसे काटकर आपकी चुनी हुई Scheme में sip के द्वारा investment कर दिया जाता है।

तो अगर आपने किसी fund में sip करते हैं, तो अगर आपने,

हर महीना, हर तिमाही, या हर  छमाही के 1 तारीख को यदि आप sip start करते हैं।

तो आपके हर महीने, हर तिमाही, या हर छमाही की 1 तारीख को ₹1000 आपके bank account से काट लिए जाते हैं।

और फिर आपके चुने हुए मनपसंद Mutual fund Scheme मे आपका पैसा Invest कर दिया जाता है।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है