Ticker

6/recent/ticker-posts

stp kya hai aur kaise kaam karta hai

What is STP in Hindi (Systematic Transfer Plan)

Systematic Transfer Plan क्या है इनके लाभ  क्या है

STP Mutual funds में एक Fund से दूसरे Fund में Transfer करने का Best option है।

Stp kya hai

For example आपके पास Large Amount है, जिसे की आप Stock market में Invest करना चाहते हैं।

But यह डर लगता है, की Investment करते ही कहीं Share market गिर न जाए,

इसलिए आप सारा पैसा एक साथ Invest नहीं करना चाहते है।

आप चाहते हैं, की आप पैसा धीरे-धीरे Investment हो, साथ ही आप यह चाहते हैं, की यह काम अपने आप हो जाए, आपको हर महीने बार-बार Invest न करना पड़े।

For example आपके पास 500000 हैं और यह पैसा Fund A में लगाना चाहते हैं।

जो की एक Equity Mutual funds है, आपको Fund A में हर महीने 25,000 Investment करना चाहते हैं।

इसके लिए आप पूरे 500000 एक debt mutual fund या liquid fund में Investment कर सकते हैं।

debt mutual fund या liquid fund में Equity mutual funds की तरह बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव नहीं होता है।

इसीलिए आप यहाँ पर Large Amount भी Invest कर सकते हैं।

For example उस Fund का नाम Fund B है, इसके बाद आप Fund B से Fund A में 25,000 प्रति माह की STP चालू कर सकते हैं।

हर महीने एक Fixed Date को Fund B से 25,000 की Units बिकेंगी और 25,000 Fund A में Invest हो जायेंगे।

ऐसे में अगले 20-22 Months में सारा पैसा Fund A में Invest हो जाएगा, एक बार आपने STP Start कर दिया, तो सब अपने आप हो जाएगा, STP के नाम से प्रतीत होता है।

आपका पैसा systematically एक Fund से दूसरे Fund में Transfer हो जाएगा STP और SIP में क्या अंतर है?

STP और SIP दोनों ही Invest करने का Best option हैं

STP में आपका पैसा एक Mutual funds scheme से दूसरे Mutual funds scheme में जाता है।

SIP में पैसा आपके Bank Account से Mutual funds scheme में जाता है।

For example आपको 300000 का Equity Mutual funds scheme में Investment करना है।

जैसे की ऊपर लिखा है, की आप एक साथ सारा पैसा Invest नहीं करना चाहते।

आप चाहते हैं की धीरे-धीरे आपका पैसा Share market में Investment हो, ऐसा आप SIP and STP के माध्यम से कर सकते हैं।

For example आप हर महीने 20,000 Investment करना चाहते हैं आप पैसा अपने Bank Account में छोड़ सकते हैं और प्रति माह 20,000 की SIP Start कर सकते हैं।

या फिर आप 300000 किसी debt या liquid funds में Investment कर सकते हैं और 20,000 की एक STP Start कर सकते हैं।

ऐसे में हर महीने 20,000 की debt mutual fund की Units बिकेंगी और 20,000 के Equity mutual funds की Units खरीद ली जायेंगी।

STP Start करने से पहले ख्याल रखें

1. पहले Fund से Units बिकने पर पैसा आपके Bank Account में नहीं आता है, सीधे दूसरे Fund में Invest हो जाता है।

2. पहला और दूसरा Fund एक ही Mutual funds Company से होने चाहिए।

आप SBI के fund से ICICI के fund में STP नहीं चला सकते, पहले Fund में Units बेचने पर आपको tax देना पड़ सकता है।

हालांकि आपके Account में पैसा नहीं आता, But, Mutual funds के Units तो बिके हैं, इसलिए आपको Capital gains tax देना पड़ता है।

3. STP की हर किश्त दूसरे fund में नया investment है।

For example आपने हर महीने की 15 तारीख को Fund B से Fund A में STP Start करी, ऐसे में हर महीने की 15 तारीख को Fund A में कुछ Invest होगा।

4.Tax और Exit load के नज़रिए से हर किश्त को एक नया Investment माना जाएगा।

5. STP के द्वारा Invest करने से Best Return की कोई गारंटी नहीं है,SIP के साथ भी कोई गारंटी नहीं है, केवल आपको इस बात का सुकून रहता है की आपक पैसा धीरे-धीरे Investment हो रहा है।

6. STP एक Fund से दूसरे Fund में नियमित रूप से पैसा Transfer करने का जरिया है, तो Fund का चुनाव सही से करें।

7. आप किसी भी Fund से दूसरे Fund में STP शुरू कर सकते हैं, But दोनों Fund एक Mutual funds Company से होने चाहिए।

8. अगर आप चाहें तो एक Equity fund से Debt fund में भी STP कर सकते हैं, कोई आपको रोकेगा नहीं।

9. अगर आपको Equity fund में Invest करना है, तो आप Debt fund से Equity fund में STP Start कर सकते हैं।

10. अगर आपको Equity fund से धीरे-धीरे पैसा निकालना है।

तो आप Equity fund से Debt fund में STP Start कर सकते हैं, But ऐसा करना है, तो थोडा सोच-समझ कर करें।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है

Post a Comment

0 Comments