What is SIP in Hindi {Systematic investment plan}

Systematic Investment Plan क्या है कैसे काम करते हैं इनके लाभ

SIP Investment करने का एक व्यवस्थित तरीका है, और यह ज्यादातर Mutual funds में Investment करने के लिए उपयोग किया जाता है।

Mutual fund में SIP Investment किसी bank की Reccuring Deposit की तरह होता है।

और इसमें हम हर महीने अपने saving के पैसे को Reccuring mode में investment कर सकते है।

जब हमारे पास investing करने के लिए कोई बहुत बड़ी रकम नहीं होती है।

तब हम bank के RD deposit की तरह ही अगर mutual fund में invest करना चाहते हैं।

तो SIP के माध्यम से 500 रूपये monthly भी investing start कर सकते है।

Sip में आप थोड़ा-थोड़ा करके पैसे को mutual fund में investment कर सकते है।

यानी की आप mutual fund scheme के investment को किस्तो में payment कर सकते हैं।

Sip में auto debit facility का use किया जाता है। यानी आपकी चुनी हुई date पर आपके bank account से पैसे काटकर आपकी चुनी हुई mutual fund scheme में  sip के द्वारा investment कर दिया जाता है।

तो अगर आपने किसी mutual fund scheme में sip के जरिए investment करते हैं।

तो अगर आपने,
हर महीना, हर तिमाही, या हर  छमाही के 1 तारीख को यदि आप sip start करते हैं।

तो आपके हर महीने, हर तिमाही, या हर छमाही की 1 तारीख को ₹1000 आपके bank account से काट लिए जाते हैं।

इस तरीके में Investment एक साथ पूरा पैसा Investment करने के बजाए निश्चित समय अंतराल में निश्चित राशि Investment करता रहता है।

जैसे Investor ने 1000 per month की SIP start करवाई है तो Investor per month 1000 उस Mutual fund में Invest करता है।

छोटी छोटी राशि हर महीने या हर तिमाही में Investment करने पर Investment पर ज्यादा आर्थिक खर्च नहीं बढ़ता है।

इसके लिए बहुत कम आय वाले व्यक्ति भी यह Investment कर सकते हैं। यह Investment वह Mutual fund की NAV के अनुसार करता है।

Mutual Funds में NAV का मतलब है उसके एक Unit का Price
हमने Example में देखा की 1000 Crore के Fund को 10 Crore Units में बांटा गया।

क्या आप बता सकते है, की एक Unit की किमत (NAV) कितनी होगी ?
मान ले,, अभी सभी ख़र्च शून्य है तो हर एक unit की price 100 होगी।

यानी उस Mutual fund की NAV 100 रुपए होगी। इस NAV को per day गिना जाता है।

इसके लिए उस दिन जिस price पर Share close हुए है उस price को गिना जाता है।

NAV इस तरह से निकालता है

1. Liabilities - fund को चलाने के एक दिन के Expenses and fund manager का एक दिन का Salary

2. Assets - fund ने Invest किए हुए पैसो का आज का मूल्य Total number of units - units की संख्या।

Mutual Funds की यह NAV हर दिन बदलती रहती है, इस कारण से अलग-अलग महीने में Investment अलग-अलग NAV पर Mutual fund खरीदता है।

जब Market में तेजी होगी तब Mutual funds की NAV ज्यादा होगी इसके लिए 1000 में कम Units आएगी।

और जब Market में मंदी होगी तब NAV क़म होगा इसके लिए 1000 रुपए से ज़्यादा Units आएगी।

Long term में अब तक यह देखा गया है, की अगर सही जगह पर और सही तरह से Investment किया जाए तो Mutual funds बहुत अच्छा Return देता है।

इसलिए लम्बे समय के Investment पर अच्छा लाभ मिलेगा।

SIP Advantages and Disadvantages in Hindi

SIP के तरीके से Investment करने के Profit and Loss दोनों ही कुछ ऐसा है

SIP के Loss
Long term की SIP से मिला Profit लम्बे समय के Lump sum investment से मिले हुए Return से कम होता है।

हर महीने Investment के लिए Bank में पर्याप्त Amount होनी चाहिए।

Investment के वक्त पर्याप्त Amount न होने पर BAnk, Penalty Charge कर सकता है।

लगातार 3 Installment न चूकाने पर आपकी SIP Cancel हो जाती है।

SIP के Profit
SIP के द्वारा Invest करने पर सबसे बड़ा लाभ यह है कि Investment का Risk कम हो जाता है।

इस तरीके से Invest की राशि एक साथ निकालने की आवश्यकता नहीं होती है।

Investment कम Amount से भी शुरू किया जा सकता है।
Invest के तरीके से Investment करने का तरीका व्यवस्थित है।
आम जनता भी Invest कर सकते हैं।

Top-up SIP की सुविधा का प्रयोग करके Investment की Amount बढ़ा सकती है।

1. Expert Fund Manager करते हैं पैसों का Management

Mutual funds SIP में Investment का सबसे बड़ा फायदा है कि आपका पैसों का Management, Expert Fund Manager करते हैं।

Expert Fund Manager,, Company and Economy पर Research and Analysis करते हैं।

इसके बाद वे आपके पैसों को सही जगह पर Investment करने का फैसला करते हैं।
इसके अलावा वे Regular, Market पर नजर रखते हैं।

यदि आप Market के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं रखते हैं या आपके पास इतना समय नहीं है कि आप Market पर लगातार नजर बनाए रखें तो आप Mutual funds में Invest कर सकते हैं।

इस तरीके से Investment करने पर Market से जुड़े Risk कम हो जाते हैं।

2. All companies में Investment होता है आपका पैसा

Mutual fund SIP में Investment करने का दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपका पैसा अगल-अलग Sector की तमाम Companies में Investment किया जाता है।

जब आपका पैसा अलग-अलग Sector की Companies में Invest किया जाता है तो आपका Investment Diversify हो जाता है।

ऐसे में अगर किसी Sector and Company को नुकसान होता है तो जब आपके Return पर ज्यादा असर नहीं पड़ता है।

क्योंकि दूसरे Sector की Company से इस नुकसान की भरपाई हो सकती है।

3. Government Regulations के तहत काम करता है Mutual fund industry

Mutual fund industry, SEBI and AMFI के बनाए Rules के तहत काम करता है।

इसकी वजह से Mutual fund Company के काम करने का तरीका पूरी तरह से पारदर्शी होता है।

इससे Mutual funds में Investment पूरी तरह से Safe and Secure रहता है।

4. Market में कभी भी कर Investment कर सकते हैं

Mutual fund SIP Investment का एक और बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपको यह नहीं सोचना पड़ता है कि अभी Market में तेजी है या गिरावट है तो मुझे कब Invest करना चाहिए।

Sip में आप नियमित रूप से थोड़ा-थोड़ा पैसा Investment करते हैं। इससे Market में Investment का समय मायने नहीं रखता है।

5. आपका Budget प्रभावित नहीं होता है

Mutual fund SIP के जरिए आप हर महीने 500 और 1,000 रुपये Investment कर सकते हैं।

आप हर महीने छोटी राशि Investment करते हैं तो क्या आपका मंथली खर्च पर भी कोई खास फर्क नहीं पड़ता है।

6. Decreasing average cost

Mutual fund SIP में हम हर महीने एक Fixed Amount नियमित तौर पर Investment करते हैं। इस तरीके से जब बाजार गिरता है।

तो हम ज्यादा Units खरीदते हैं और जब बाजार बढ़ता है तो हम NAV की कीमत बढ़ जाती है और हम कम Units खरीद पाते हैं।

7. सपने पूरे करने में मदद करता है

हम जो पैसा Invest करते हैं उसका कोई लक्ष्य नहीं होता है।
For example घर खरीदना, बच्चो की Education, शादी आदि।

इन सभी चीजों के लिए Large Amount की जरूरत होती है। Short term में इतना पैसा जुटाना हर व्यक्ति के लिए संभव नहीं होता है।

लेकिन Mutual fund SIP के जरिए आप Long term में Large profit बना सकते हैं।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है