What is NFO in Hindi {New Fund Offer}

NFO क्या है कैसे काम करते हैं इनके लाभ क्या है

जिस तरह एक Share की Value उसके Price से पता चलती है वैसे ही एक Mutual fund की Value उसकी NAV (net assets value) से पता चलती है।

जब कोई company पहली बार stock market से पैसा उठाती है, तो उसे,, IPO (initial public offering) कहते हैं।

वहीं जब कोई Mutual fund,, lunch होती है, तो, NFO (new fund offer) कहते हैं।

mutual fund,, lunch होने से पहले उस mutual fund के offer documents,, publish किए जाते हैं।

Offer documents में उस mutual fund के Goal's and objective,, risk and rewards और इन जैसे और भी बहुत सारे details,, publish किए जाते हैं।

तो किसी भी mutual fund में invest करने से पहले उसकी offer documents को जरूर पढ़ना चाहिए।
वैसे तो mutual fund बहुत सारे types के होते हैं।

हरेक mutual fund के goal's and objective और risk and capability अलग-अलग होते हैं।

तो आप किसी भी mutual fund में invest करने से पहले उसके offer documents को जरूर पढ़ने चाहिए।

Mutual fund के AMC (Assets Management Companyके बारे में जानना जरूरी होता है।

1. How does New fund offer work in Hindi

एक New fund offer में, Scheme की Membership का chance केवल limited period के लिए उपलब्ध है।

इस अवधि में, Investors, Mutual fund scheme की Units की Offer price पर NFO की Membership लेने के लिए कर सकते हैं।

यह आमतौर पर 10 Rupees पर Decide होता है।

एक बार यह कार्यकाल समाप्त हो जाने पर, Investors समय पर प्रचलित Offer में fund की Units को खरीद सकेंगे।

आमतौर पर, NFO Customer को listing के बाद महत्वपूर्ण लाभ का अनुभव होता है।

2. Why New fund offer is a good opportunity in Hindi

New fund offer की help से, Fund House, Equity shares, Debenture and Bonds, की Buy and Sell के लिए Investors and public से पैसा जुटाता है।

New fund offer मौजूदा fund  से सस्ता है क्योंकि market में new है।

वे IPO के साथ तुलनीय हैं, जिसमें Investors and public,, Stock market में Listed होने से पहले Shares खरीद सकती है।

3. Best advice for New fund offer in Hindi

Investors अधिकांश Mutual fund Investment के अवसरों की तलाश करते हैं जब Market Down Position पर होता है।

वे Market में Enter करते हैं, वे Attractive Investment करते हैं, जो low price पर उपलब्ध हैं।

Asset management company, Investors की इस मानसिकता को भुनाने की कोशिश करती हैं।
यही कारण है कि लोगों को कम महंगे NFO के बाद जाना पड़ता है।

Investors, New fund offer को धन प्रस्ताव के लिए एक मूल्य भी पाते हैं और इसकी Membership लेते हैं।

इसलिए, Fund house अपने AMU को बढ़ाने के अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।

best advice for New fund offer in Hindi

1. Fund House Reputation

Investors यदि New fund offer में Investment करना चाहता है, तो Fund house की History की जांच जरूरी है।

सुनिश्चित करें कि Fund house का कम से कम 5 से 10 साल तक के Mutual fund Business में परिचालन का मजबूत इतिहास है।

यह उस तरह के Performance का Research and Analysis करने में help करेगा जो Market के उतार-चढ़ाव के दौरान Fund house द्वारा वितरित किए गए थे।

यदि Fund house का track Record अच्छा है, तो New fund offer वादे के अनुसार Performance कर सकता है।

2. Fund Objectives

Fund के उद्देश्यों में अन्य चीजों के अलावा Asset Allocation, Return and liquidity शामिल हैं।

यह New fund offer की व्यवहार्यता के बारे में एक धारणा विकसित करने में आपकी help करता है।

NFO को अपनी Investment Process को स्पष्ट समझाने की जरूरत है, जिसे वह दिए गए Investment के लिए पूरा करने जा रहा है।

सरल शब्दों में कहें तो Offer Document को पढ़ने से, संभावित Investors को यह समझने में सक्षम होना चाहिए, कि Fund manager अपने पैसे के साथ क्या करने जा रहा है।

Investors यदि NFO के उद्देश्यों को पूरा करने में असमर्थ हैं, तो यह Investment प्रक्रिया में कमजोरियों को दर्शाता है।

3. Theme of New fund offer

भारतीय Mutual fund Sector में 2,000 से अधिक Mutual fund Schemes हैं।

इसलिए यदि आप एक New fund offer में आते हैं, आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि fund house कुछ best perform कर रहा है।

1. Returns

आप यदि New fund offer में रुचि रखते हैं, तो पिछले Return का Research and Analysis करना बुद्धिमानी है।

यदि आपने पहले ही Mutual fund में अपना पैसा लगा दिया है, तो पहले 3 year के लिए तिमाही समीक्षा के लिए जाएं।

Return Trend को समझने के लिए आप Index और Peer fund के साथ Mutual fund के Performance की तुलना कर सकते हैं।

2. Risk factor

New fund offer में Investment करना Risky हो सकता है।
मौजूदा Funds के विपरीत, जहां आप आसानी से Asset allocation और इसमें शामिल Risk की जांच कर सकते हैं।

New fund offer का Performance and History नहीं है।

और, आप यह आकलन नहीं कर पाएंगे कि Fund manager आपके पैसे का उपयोग कैसे करना चाहता है।

बिना किसी Matrix and Benchmark के, Fund के Performance की Analyze करना मुश्किल होगा।

4. Cost of investment

Investment में शामिल Total cost कई Criteria में से एक है जो आपके संभावित Return को प्रभावित करती है।

Entry load न होने पर भी, यदि Investors कार्यकाल पूरा करने से पहले Units को Sell करना चाहता हैं।
तो कुछ New fund offer Exit load ले सकते हैं।

Lock in period आपके Investment से अधिक होती है, तो आपके Return, Exit load के कारण Hit हो सकते हैं।

Expense ratio Mutual fund के Management के लिए Fund house के लिए वार्षिक शुल्क - एक और कारक है

5. Minimum Subscription Amount

New fund offer आमतौर पर Investors  के लिए एक minimum membership amount करते हैं।
यह 500 से लेकर 5,000 Rupees तक हो सकता है।

आप इसके अलावा मौजूदा High performance, Mutual fund में एक SIP के लिए जा सकते हैं, जो एक सस्ती और सुविधाजनक best option है।

6. Investment horizon

कुछ New fund offer 3 year से लेकर 5 year तक की lock in period के साथ आ सकते हैं। आपको पूरे कार्यकाल के लिए निवेशित रहना पड़ सकता है।

Investment करने के बाद, आप lock in period से पहले Units को Sell कर नहीं सकते।
आपको इसके लिए Pre Exit load भी देना पड़ सकता है।

जानिए मेरे इस Blog में आपको क्या-क्या जानकारी मिलेगी

जानिए Investment क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या-क्या हैं

जानिए Share market क्या है ये कैसे काम करते है

जानिए क्या Share market जुआ है या Business है

जानिए Share market से पैसे कैसे कमाए जाते हैं

जानिए Mutual funds क्या है ये कैसे काम करते हैं

जानिए India में Mutual funds कितने प्रकार के होते हैं

जानिए Mutual funds में Investment कैसे करते हैं

जानिए Sip क्या है इनके फायदे-नुकसान क्या क्या हैं

जानिए Sip और Lump-sum में कितना अन्तर है